बवासीर में क्या खाना चाहिए (Piles Me Kya Khana Chaiye?)

बवासीर में क्या खाना चाहिए

बवासीर (Bawasir) या पाइल्स (Piles) एक ऐसी समस्या है जो बहुत से लोगों को परेशान करती है। इसमें मलाशय (Rectum) के आसपास की नसों में सूजन हो जाती है जिससे मल त्याग करने में दर्द होता है।

अगर आप सही आहार लेते हैं तो यह समस्या आसानी से निवारित की जा सकती है।

सही आहार खाने से आपके शरीर को जरूरी न्यूट्रिएंट्स और फाइबर मिलते हैं जो आपकी नसों को स्वस्थ बनाते हैं। इसलिए, बवासीर के इलाज में सही आहार का उपयोग करना बहुत जरूरी होता है।

बवासीर के इलाज (Piles Treatment in Hindi) में दवाओं के साथ सही आहार भी बहुत महत्वपूर्ण होता है।

बवासीर में क्या खाना चाहिए (What To Eat in Piles in Hindi)

हाई फाइबर वाले संपूर्ण खाद्य पदार्थों से भरपूर स्वस्थ आहार खाने से बवासीर (bawaseer), या बवासीर के लक्षणों (Piles Symptoms)  से राहत मिल सकती है। इसके विपरीत, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ, रेड मीट और शराब बवासीर के खतरे को बढ़ा सकते हैं।

बवासीर में खाने के कुछ सर्वोत्तम खाद्य पदार्थों (Food For Piles in Hindi) हैं:

साबुत अनाज

साबुत अनाज जैसे ब्राउन राइस, दलिया और पूरी गेहूं की ब्रेड फाइबर से भरपूर होते हैं, जो मल को नरम करने में मदद करते हैं और मल त्याग के दौरान मलाशय पर खिंचाव को कम करते हैं।

अपने पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन कम से कम 25 ग्राम फाइबर का लक्ष्य रखें।

पत्तेदार साग

गहरे, पत्तेदार साग जैसे पालक, केल, और कोलार्ड साग विटामिन और खनिजों से भरे होते हैं जो रक्त वाहिकाओं को मजबूत कर सकते हैं और शरीर में सूजन को कम कर सकते हैं।

वे फाइबर से भी भरपूर होते हैं, जो मल त्याग के दौरान कब्ज और तनाव को रोकने में मदद कर सकते हैं।

 बीन्स और फलियाँ

बीन्स और फलियाँ जैसे दाल, छोले, और किडनी बीन्स में फाइबर और प्रोटीन अधिक होता है, जो मल त्याग को नियंत्रित करने और शरीर में सूजन को कम करने में मदद कर सकता है।

वे वसा (Fat)  में भी कम होते हैं, जो उन्हें किसी भी आहार के लिए एक स्वस्थ जोड़ बनाते हैं।

मेवे और बीज 

बादाम, अलसी और चिया बीज जैसे मेवे और बीज फाइबर और स्वस्थ वसा से भरपूर होते हैं, जो मल त्याग को नियंत्रित करने और शरीर में सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

वे प्रोटीन का भी एक अच्छा स्रोत हैं, जो उन्हें एक बढ़िया स्नैक विकल्प बनाते हैं।

पानी

स्वस्थ मल त्याग को बनाए रखने और कब्ज को रोकने के लिए खूब पानी पीना आवश्यक है। अपने शरीर को हाइड्रेटेड रखने और अपने पाचन तंत्र को ठीक से काम करने के लिए प्रतिदिन कम से कम आठ गिलास पानी पीने का लक्ष्य रखें।

 दही 

दही में प्रोबायोटिक्स होते हैं, जो फायदेमंद बैक्टीरिया होते हैं जो पाचन में सुधार और कब्ज को रोकने में मदद कर सकते हैं।

इसमें कैल्शियम भी होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने और ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है।

बवासीर में क्या नहीं खाना चाहिए (बवासीर में परहेज)(Foods To Avoid in Piles Disease in Hindi)

प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ (Processed Foods) और वसा (Fat), चीनी या परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थ भी उन स्थितियों के जोखिम को बढ़ा सकते हैं जो बवासीर, विशेष रूप से कब्ज का कारण बनते हैं।

बवासीर के लक्षणों या उन्हें विकसित होने के जोखिम को कम करने में मदद करने के लिए, एक व्यक्ति बचने की कोशिश कर सकता है:

●            तला हुआ और नमकीन भोजन

●            चिप्स और अन्य पैक किए गए स्नैक्स

●            पूर्ण वसा वाले डेयरी उत्पाद

●            तैयार या भारी प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ

●            लाल मांस

●            कैंडी और चॉकलेट

●            सोडा, स्पोर्ट्स ड्रिंक, एनर्जी ड्रिंक, और दूध, चीनी या क्रीम के साथ कॉफी

●            अल्कोहल

●            अत्यधिक कैफीन का सेवन

●            सिगरेट और गुटखा

​बवासीर को रोकने के लिए जीवनशैली में क्या बदलाव करना चाहिए (Lifestyle Changes for Piles in Hindi)

नियमित व्यायाम करें

नियमित व्यायाम बवासीर को रोकने और प्रबंधित करने में मदद कर सकता है। व्यायाम रक्त प्रवाह में सुधार करता है और आपके मलाशय में मांसपेशियों को मजबूत करता है, जिससे बवासीर का खतरा कम हो सकता है।
रोजाना कम से कम 30 मिनट की मध्यम-तीव्रता वाले व्यायाम का लक्ष्य रखें।

लंबे समय तक बैठने से बचें

लंबे समय तक बैठे रहने से आपके मलाशय पर दबाव बढ़ सकता है, जिससे बवासीर हो सकता है। बार-बार ब्रेक लें और खड़े होने और हर घंटे चलने की कोशिश करें।

जोर लगाने से बचें

मल त्याग के दौरान जोर लगाने से बवासीर खराब हो सकता है। तनाव को रोकने के लिए, आप स्टूल सॉफ़्नर का उपयोग कर सकते हैं या अपने फाइबर का सेवन बढ़ा सकते हैं।

अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करें

गुदा क्षेत्र को साफ रखने से संक्रमण और जलन को रोकने में मदद मिल सकती है। शौच करने के बाद, नम पोंछे का उपयोग करें या क्षेत्र को धीरे से गर्म पानी से धो लें।

अल्कोहल या परफ्यूम वाले कठोर साबुन या वाइप्स के इस्तेमाल से बचें।

तनाव का प्रबंधन करें

तनाव रक्तचाप बढ़ाकर और कब्ज पैदा करके बवासीर को बढ़ा सकता है। तनाव को प्रबंधित करने के लिए ध्यान, गहरी सांस लेने या योग जैसी विश्राम तकनीकों का अभ्यास करें।

फाइबर युक्त आहार लें

अपने पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए फाइबर से भरपूर आहार लेना आवश्यक है।

फाइबर मल को नरम करने में मदद करता है और इसे पास करना आसान बनाता है, जिससे आपके मलाशय पर दबाव कम होता है।

आप साबुत अनाज, फल, सब्जियां, फलियां और नट्स से फाइबर प्राप्त कर सकते हैं। रोजाना कम से कम 25-30 ग्राम फाइबर का लक्ष्य रखें।

खूब पानी पिएं

आंतों के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना आवश्यक है। यह कब्ज को रोकने में मदद करता है और मल त्याग करते समय आपके मलाशय पर तनाव को कम करता है।

रोजाना कम से कम 8 गिलास पानी पीने का लक्ष्य रखें।

पाइल्स का इलाज (हिंदी) (Treatment of Piles in hindi)

डॉ. एस. एन. बेसर एक प्रसिद्ध लेप्रोस्कोपिक और एनोरेक्टल सर्जन (M.S., F.I.A.G.E.S., F.I.S.C.P.) हैं, जो सूरत शहर के टॉप पाइल्स हॉस्पिटल हर्ष हॉस्पिटल एंड मैटरनिटी होम  में बवासीर का इलाज (bavasir ka ilaaj), एनल फिशर और फिस्टुला के इलाज में माहिर हैं।

वह 20+ वर्षों के अनुभव के साथ बवासीर के डॉक्टर हैं। हमारे अस्पताल में हर साल सेंकडो लोग लेजर से पाइल्स का इलाज कराने आते हैं।

हमारे अस्पताल में उच्च तकनीक (बायोलाइटिक जर्मन निर्मित 15 वाट डायोड लेजर) से पाइल्स लेजर सर्जरी के लिए एक समर्पित सुविधा है।

सूरत में अपना दर्द रहित पाइल्स लेजर उपचार शुरू करने के लिए आज ही हमसे  +0261-2781652 पर संपर्क करें।

Share Now!

Consult Us!

Latest Articles

Need Medical Consultation?

Here is what people have to say about us on Google Reviews…

Vikas Cherry Durga
Vikas Cherry Durga
10. January, 2024.
Very nice and wel treatment
Rajkumar Borana
Rajkumar Borana
4. January, 2024.
Hospital facilities is good, doctors and staff very care patient
Paras Soni
Paras Soni
3. January, 2024.
Harsh hospital reviews are good & all facilities are very well..
Haji musa Khatri
Haji musa Khatri
30. December, 2023.
Dr.purva Patel is very good surgeon. All Hospital staff is very co-operative
Nasruddin Khatri
Nasruddin Khatri
26. December, 2023.
All good facilities available in hospital Staff and doctor are very Care fully

Book Your Slot!

Free Consultation for your Piles Problem.